मंगलवार, 8 सितंबर 2009

पटना कारोबार के लिए सबसे अच्छे शहर में

कारोबार शुरू करने के लिहाज से पटना, मुंबई से अच्छा और नई दिल्ली के बाद दूसरे नंबर का सबसे बेहतर शहर है।
विश्व बैंक और अंतरराष्ट्रीय वित्त निगम (आईएफसी) की रपट में कहा गया है कि इनके अलावा जयपुर हैदराबाद और भुवनेश्वर ऐसे शहर हैं जहां कारोबार करना आसान है।
रपट में कहा गया कि लुधियाना में कारोबार करना सबसे आसान है जिसके बाद हैदराबाद, भुवनेश्वर, गुड़गांव, अहमदाबाद, नई दिल्ली, जयपुर और गुवाहाटी का स्थान है।
जिन 17 शहरों को सर्वेक्षण किया गया है उनमें कारोबार करने के लिहाज पटना का स्थान 14वां है और यह चेन्नई और कोलकाता से ऊपर है। कोलकाता इस सूची में सबसे नीचले पायदान पर है।
इन शहरों को सात मानकों के आधार पर स्थान दिया गया है जिनमें कारोबार शुरू करना निर्माण परमिट संपत्ति का पंजीकरण कर भुगतान आदि शामिल हैं।
हालांकि रैंकिंग में वृहत् आर्थिक हालात बुनियादी ढांचा कार्यबल का कौशल या सुरक्षा शामिल नहीं है। रपट में कहा गया कि पिछले तीन साल के मुकाबले भारत के ज्यादातर बड़े शहरों में कारोबार करना अब ज्यादा आसान है। जहां तक सबसे तेजी से कारोबार शुरू करने की बात है तो मुंबई और नोएड सबसे आगे हैं। यहां सिर्फ 30 दिनों में कारोबार शुरू किया जा सकता है जबकि लागत के लिहाज से पटना में कारोबार शुरू करना सबसे सस्ता है।
लुधियाना जयपुर और नोएडा में कर अदायगी आसान है जबकि चेन्नई कोलकाता और पटना में कर का भुगतान करना मुश्किल है। वैश्विक अर्थव्यवस्थाओं के मुकाबले भारतीय शहर कारोबार बंद करने और कर अदा करने के मामले में पीछे हैं। रपट के मुताबिक भारत में 90 फीसद से ज्यादा रोजगार अनौपचारिक क्षेत्र में हैं और नियमन प्रक्रिया में सुधार से औपचारिक क्षेत्र में कारोबार के अच्छे परिचालन से मदद मिल सकती है।
विश्व बैंक ने कहा लाल फीताशाही में कमी संपत्ति अधिकार में स्पष्टता और नियामक अनुपालन को सुगठित करने जैसे सुधार कंपनियों और कर्मचारियों के लिए फायदेमंद हो सकते हैं।