गुरुवार, 3 सितंबर 2009

पटना में मेट्रो

पटना में भी दौड़ेगी मेट्रो रेल
Sep 03,2009, 12:03 am

पटना, जागरण ब्यूरो। ट्रैफिक जाम से जूझ रही बिहार की राजधानी पटना को नीतीश सरकार गति देना चाहती है। विकल्प मेट्रो रेल को माना गया है। कुछ-कुछ दिल्ली की तर्ज पर। परिकल्पना को साकार करने की संभावनाओं की तलाश भी शुरू हो गई है। मामले के अध्ययन की जिम्मेदारी 'इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट अथारिटी' [बिहार] को सौंपा गया है।

केंद्र सरकार ने 10 लाख से अधिक आबादी वाले शहरों में यातायात व्यवस्था के सुदृढ़ीकरण के लिए राज्यों को गंभीर प्रयास करने को कहा है। इसी के तहत पटना में भी मेट्रो रेल की संभावनाएं तलाशने का काम शुरू हो रहा है। पटना की आबादी बीस लाख के आसपास पहुंच रही है।

नगर विकास विभाग की समीक्षा के बाद उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने बातचीत में बताया कि शहर की आबादी 20 लाख पहुंचते-पहुंचते पटना में मेट्रो रेल को धरातल पर उतार दिया जाएगा।

राष्ट्रीय शहरी यातायात नीति-2006 के अनुसार, ट्रैफिक जाम की समस्या दूर करने, निजी गाड़ियों के उपयोग को कम करने तथा शहरी जमीन के समेकित उपयोग को बढ़ावा देने के उद्देश्य से बिहार ने भी 'राज्य शहरी यातायात नीति' की तैयारी शुरू कर दी है। इसी क्रम में नगर विकास विभाग ने इफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट अथारिटी को मौजूदा यातायात-व्यवस्था के विभिन्न पहलुओं का अध्ययन कर अपनी रिपोर्ट प्रस्तुत करने को कहा है। राज्य की यातायात नीति का आधार यही रिपोर्ट होगी। रिपोर्ट अगले 30 साल को ध्यान में रखकर तैयार की जाएगी।