मंगलवार, 15 सितंबर 2009

न्यूक्लियर बम घोषित हैं 23 हजार, अघोषित कितने






23,000 बमों पर है दुनिया

ये आंकड़े डराते हैं। पढ़कर माथे पर चिंता की लकीरें गहराती हैं। मन में एक सिहरन पैदा होती है। आंखों के सामने हिरोशिमा और नागासाकी का मंजर घूमने लगता है। तब कुछ न्यूक्लियर बमों ने ऐसा कहर बरपाया था कि दशकों बाद सिचुएशंस पूरी तरह नहीं सुधर पाई हैं। व‌र्ल्ड में अब तक 23 हजार न्यूक्लियर बम घोषित रूप से बनाए जा चुके हैं। इतना ही नहीं, इनमें से 8100 से ज्यादा बम कभी भी दागे जाने की सिचुएशन में हैं। भारत के लिए यह और भी मायने इसलिए रखता है क्योंकि इस लिस्ट में साफ है कि पाकिस्तान के पास भारत से ज्यादा न्यूक्लियर वेपंस हैं।

एफएएस की रिपोर्ट

ये डेटाज फेडरेशन ऑफ अमेरिकन साइंटिस्ट की ओर से जारी एक रिपोर्ट में दिखाए गए हैं। इसमें व‌र्ल्ड के सभी देशों के पास न्यूक्लियर वेपंस की इंफॉर्मेशन विस्तार से दी गई है। इसके मुताबिक व‌र्ल्ड की नौ कंट्रीज के पास कुल 23, 395 न्यूक्लियर वेपंस हैं। रिपोर्ट में यह भी बताया गया है कि पाकिस्तान के न्यूक्लियर वेपंस की संख्या अब भारत के न्यूक भंडार से अधिक है।

सबसे ज्यादा रूस के पास

खुद को दुनिया का दादा कहने वाले अमेरिका आश्चर्यजनक रूप से इस लिस्ट में सेकंड पोजीशन पर है। रूस का परमाणु जखीरा 13, 000 बमों के साथ सबसे बड़ा है। अमेरिका के पास 9400 न्यूक वेपंस हैं। चीन के पास 300 वेपंस हैं और वह थर्ड पोजीशन पर है। 240 बमों के साथ फ्रांस चौथे नंबर पर है। जबकि ब्रिटेन पांचवी पोजीशन पर है और उसके पास 185 बम हैं। इस तरह सुरक्षा परिषद के पांच स्थायी सदस्यों के पास कुल 23, 125 न्यूक वेपंस हैं। यह व‌र्ल्ड के कुल न्यूक वेपंस का 98.5 परसेंट है।

किसके पास क्या?

रूसी जखीरे में 2790 वेपंस रणनीतिक, 2050 गैर रणनीतिक और 4840 ऑपरेशनल हैं। रूस के पास 1991 में गैर रणनीतिक मुखास्त्र की संख्या 15000 थी। यह अब 5390 रह गई ह।. लगभग 200 मुखास्त्र निष्क्रिय अवस्था में यूरोपीय भाग में तैनात हैं और 2500 मुखास्त्र रिजर्व हैं। जबकि अमेरिका के पास 2126 रणनीतिक, 500 गैर रणनीतिक व 2623 ऑपरेशनल वेपंस हैं।

भारत से आगे पाक

जो अन्य देश परमाणु शक्ति संपन्न डिक्लेयर किए गए हैं उनमें पाकिस्तान का न्यूक भंडार इजरायल और भारत की तुलना में कहीं अधिक हो गया है। रणनीतिक हथियारों के मामले में भारत और पाक का पलड़ा भारी है। दोनों के पास 60-60 हथियार हैं। लेकिन कुल हथियारों के मामले में भारत के 60 से 80 के कंपैरिजन में पाक के पास 70 से 90 न्यूक वीपंस हैं। यह इजरायल के 80 से भी ज्यादा हो सकते हैं। इस तरह साउथ और वेस्ट एशिया में पाकिस्तान सबसे बड़ी परमाणु ताकत हो सकता है। नॉर्थ कोरिया के पास न्यूक वेपंस का ब्यौरा हालांकि किसी के पास अवेलेबल तो नहीं। पर इंटेलीजेंस इंफॉर्मेशंस के बेस पर रिपोर्ट में बताया गया है कि उसके पास 10 से अधिक बम हो सकते हैं। नॉर्थ कोरिया ने हाल ही में दो न्यूक टेस्ट किए हैं।


रिपोर्ट में इजरायल, पाकिस्तान, भारत और नॉर्थ कोरिया के पास गैर रणनीतिक एवं ऑपेरशनल यानी दागने के लिए तैयार वेपंस की संख्या अनुपलब्ध बताई गई है। रिपोर्ट में ईरान के बारे में कोई जिक्र नहीं है। [जेएनएन]